Parineeti 12th March 2023 Written Update

Parineeti 12th March 2023 Written Update | Parineeti 12th March 2023 Episode Update

Parineeti 12th March 2023 Written Update begins with:

Everyone in the room was upset as they saw the cops haul Rajeev away.

Neeti declares confidently that she would do all possible to get Rajeev out of jail.

Parminder yells angrily at Neeti to stop bluffing since she can just talk.

Neeti’s jaw widens when Parminder compares her to Pari, claiming that Pari has brains while Neeti’s head is empty.

Parminder goes on to claim that only Pari, and not Neeti, can save Rajeev from this drama.

Gurinder also dismisses Neeti, claiming that Parminder is correct and that Neeti is powerless.

Later, when Pari and Neeti approach the police station, the officer treats them harshly, which irritates Neeti and causes her to argue with him.

When Neeti continues to argue with the police officer, Pari yells at her to come with her.

Rajeev also shouts at Neeti, asking her to leave the police station with Pari as she has requested, while gripping the jail bars fiercely.

Will this occurrence prompt Neeti to take harsh action, such as murdering Pari, as Bebe desires?

Who would come to Rajeev Pari’s or Neeti’s aid?

परिणीति 12 मार्च 2023 रिटेन अपडेट | Parineeti 12th March 2023 Written Update

परिणीति 12 मार्च 2023 रिटेन अपडेट शुरू होता है:

पुलिस को राजीव को घसीटते हुए देख रहे सभी के चेहरे पर निराशा के भाव थे।

नीति ने घोषणा की कि वह विश्वास के साथ राजीव को जेल से बाहर निकालने के लिए सब कुछ करेगी।

परमिंदर गुस्से में नीति को आदेश देता है कि वह इस तरह झांसा न दे क्योंकि वह केवल बात कर सकती है, और कुछ नहीं।

नीति का मुंह खुला रह जाता है क्योंकि परमिंदर उसकी तुलना परी से करते हुए कहते हैं कि परी के पास दिमाग है जबकि नीति का दिमाग खाली है।

परमिंदर आगे कहते हैं कि केवल परी ही राजीव को इस नाटक से बचा सकती है, नीति को नहीं जो केवल नाटक कर सकती है।

गुरिंदर भी नीति को यह कहकर नीचे गिरा देता है कि परमिंदर बिल्कुल सही है क्योंकि नीति कुछ नहीं कर सकती।

बाद में, जब परी और नीति थाने में प्रवेश करते हैं, तो पुलिस अधिकारी उनके साथ अशिष्ट व्यवहार करता है, जिससे नीति उत्तेजित हो जाती है और वह उससे बहस करने लगती है।

परी तेज आवाज में नीति से अपने साथ आने का आग्रह करती है जबकि नीति पुलिस अधिकारी से बहस करती रहती है।

राजीव ने भी नीति को परी के साथ पुलिस स्टेशन छोड़ने का आदेश दिया, जैसा उसने पूछा है, जबकि वह बहुत गुस्से में सेल की सलाखों को पकड़ता है।

क्या यह घटना नीति को कुछ कठोर करने के लिए उकसाएगी और क्या वह बेबे की तरह परी को मारने का फैसला करेगी?

राजीव परी या नीति को कौन बचाएगा?

Leave a Comment